Menu Close

About Us

Amar Saheed Chandra Sekher Azad Govt. P.G. College Niwari

7 अगस्त 1981 को शासनाधीन किये गए इस महाविद्यालय की स्थापना इस क्षेत्र के समाजसेवियों, जिनमे प्रमुखत: पं. स्व. श्री लालाराम बाजपेयी जी एवं स्व. श्री श्यामलाल साहू जी के प्रयासों से 16 जुलाई 1967 को की गयी थी. झाँसी- खजुराहो राष्ट्रीय राज मार्ग पर स्थित यह महाविद्यालय आरम्भ से ही बुन्देलखण्ड की सांस्कृतिक परम्परा को संरक्षित करते हुए निरंतर प्रगति की और अग्रसर है. छोटी-छोटी पहाड़ियों एवं वन क्षेत्र से आच्छादित लगभग 56 एकड़ भूमि में फैले हुए महाविद्यालय परिसर का मनोरम परिदृश्य शिक्षा हेटी आदर्श स्वरुप एवं उपयुक्त वातावरण निर्मित करता है. नगरीय कोलाहल से दूर यहाँ का शांत वातावरण अपने छात्रों को अध्ययन की आदर्श परिस्थितियां प्रदान करता है. शासनाधीन होने के पश्चात, संस्था के जुझारू एवं कर्मठ प्रच्र्यों के संरक्षण में इस इस महाविद्यालय की प्रगति और अधिक तीब्र हुई है.

स्थानीय नागरिकों एवं शासन के सहयोग के परिणाम स्वरुप दिनंक 29.04.2013 से इस महाविद्यालय को स्नात्कोत्तर दर्जा प्राप्त हो गया है, जिससे आज यह महाविद्यालय इस क्षेत्र में उच्च शिक्षा का प्रमुख केन्द्र बन चुका है। संस्था के प्रारम्भ से ही प्रथम प्राचार्य श्री जे.सी. अग्रवाल एवं शासनाधीन होने के समय तक प्राचार्य श्री सुशील कुमार श्रीवास्तव के काल में इस महाविद्यालय ने प्रगति की आधारशिला तय कर दी थी। तत्पश्चात पदस्थ अद्यतन प्राचार्यों की ईमानदार कोशिशों ने इस महाविद्यालय को नव आयाम प्रदान किये हैं।

महाविद्यालय छात्र छात्राओं को गुणवत्ता परक मूल्य परक, शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी हेतु छात्र छात्राओं में सदाशयता, समभाव, शिष्टाचार जैसे मूल्य विकसित करने हेतु अनेक शिक्षणेत्तर गतिविधियां राष्ट्रीय पर्वों, मानव अधिकार दिवस, एडस दिवस, जैसे अनेक अवसरों पर आयोजित की जाती हैं तथा पर्यावरण संरक्षण संबंधी कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। छात्र छात्राओं को आधुनिक सुविधाओं से युक्त वातावरण में शिक्षा प्रदान की जाती है। महाविद्यालय मे प्रवेश परीक्षा, लेखा एंव पुस्तकालय एवं अन्य सभी जानकारी महाविद्यालय की वेब साईट पर उपलब्ध है.

छात्र छात्राओं को कम्प्यूटरीकृत व्यवस्था में कार्य करने की दक्षता प्रदान करने के लिए प्रषिक्षण देने की योजना है। छात्र छात्राओं को रोजगारोन्मुखी शिक्षा प्रदान करने के लिए भी महाविधालय प्रयास कर रहा है. सत्र 2013-14 से महाविद्यालय में जनभागीदारी मद से स्नातक स्तर पर कम्प्यूटर एप्लीकेशन विषय को प्रारम्भ किया गया है जिसके तहत कला, वाणिज्य, एवं विज्ञान संकाय हेतु 40-40 स्थान निर्धारित किये गये हैं। अनुसूचित जा0/अनु जनजाति एंव अल्पसंख्यक वर्ग के लिए महाविद्यालय में महिला छात्रावास की सुविधा उपलब्ध है। दैदीप्यमान एंव कमजोर छात्र छात्राओं के लिए विषेश कोचिंग की व्यवस्था महाविद्यालय द्वारा की जाती है।

महाविद्यालय को naac से मूल्यांकन एंव प्रत्यायन पश्चात “b” ग्रेड प्रदान किया गया है।

Navigation

Latest News / Updates